Wednesday , October 16 2019

बेटा-बेटी एक समान, भेदभाव ठीक नहीं : क्षमता रावत

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर हुई जिला स्तरीय स्लोगन प्रतियोगिता

बाराबंकी : समाज में छोटी बच्चियों के खिलाफ भेदभाव और लैंगिक असमानता की ओर ध्यान दिलाने के लिए शहर के राजकीय बालिका इंटर कालेज परिसर में बुधवार को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर आधारित जिला स्तरीय स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में एक प्रतियोगिता की गई जिसमें 20 कालेजों से 40 छात्राओें ने प्रतिभाग लिया। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना समाज में लड़कियों के महत्व के बारे में लोगों को जागरुक करने के लिये शुरू की गई है, जिसके तहत कन्या भ्रूण हत्या को पूरी तरह समाप्त करके लड़कियों के जीवन को बचाने के लिये आम लोगों के बीच जागरुकता बढ़ाई जा सके। वे एक लड़के की भाँति ही एक लड़की के जन्म पर खुशी मनाने और उसे पूरी जिम्मेदारी से शिक्षित करने के लिये आगे आ सकें। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में महिला कल्याण अधिकारी पूजा जायसवाल, जिला समन्वयक नेहा गुप्ता व मंजू श्रीवास्तव ने स्लोगनों का अवलोकन किया।

कालेज की प्रधानाचार्या व प्रतियोगिता संयोजिका क्षमता रावत की देखरेख में यह स्लोगन प्रतियोगिता सम्पन्न हुई। श्रीमती रावत ने बताया कि शासन की मंशा अनुरूप बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ जागरूकता कार्यक्रम किये जा रहे हैं जिससे प्ररेणा लेकर लोग अपनी बेटी और बेटों में कोई फर्क न करें। इसमें 3 सदस्य निणार्यक मंडल के द्धारा छात्राओं द्धारा निर्मित पेन्टिंग का अवलोकन कर रिजल्ट दिया जायेगा। श्रीमती रावत ने बताया कि प्रतियोगिता का परिणाम राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी को घोषित किया जायेगा। प्रतियोगिता सम्पन्न कराने में नागेश, पूनम गौड़, संध्या राजपूत, मनोरमा चौरसिया, मनु श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com