Wednesday , October 16 2019

अयोध्या मामला : वसीम रिजवी बोले, मुस्लिम पक्षकारों के पास कुछ नहीं, वह हारने वाले हैं केस

नई दिल्ली : अयोध्या मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने एक बार फिर से एक नई तारीख दी है। मामले की अगली सुनवाई अब 29 जनवरी को होगी, जिसमें एक नई बेंच बैठेगी। सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई के दौरान बेंच के जज यू यू ललित को लेकर मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से यह कहकर सवाल उठाए गए कि ललित उत्तर प्रदेश की तत्कालीन (बाबरी मस्जिद विध्वंस के समय) कल्याण सिंह सरकार के वकील रह चुके हैं। मुस्लिम पक्षकारों की इस दलील पर शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि मुस्लिम पक्षकारों के पास इस मामले में कुछ नहीं है। वह केस हारने जा रहे हैं।

रिजवी ने कहा कि मुस्लिम पक्षकार किसी पर भी सवाल उठा देते हैं। कल भी उन्होंने कहा था कि जो 5 जजों की बेंच है, उसमें कोई मुस्लिम जज नहीं है। मेरा कहना है कि जज की कोई जाति नहीं होती है। वह न्याय की कुर्सी पर फैसला करने के लिए बैठा है। मेरा मुस्लिम पक्षकारों से कहना है कि आपके पास जो सबूत हैं उनको लेकर आप अदालत में आइए। उन्हीं के आधार पर आप फैसला पा सकते हैं। रिजवी ने यह भी कहा कि मुस्लिम पक्षकार हिंदुओं के हक पर कुंडली मारकर बैठना चाहते हैं। इसलिए वह लगातार इस मामले को लटकाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि शरई तौर पर राम जन्मभूमि पर मस्जिद वाजिब नहीं है। राम जन्मभूमि को तोड़कर बनाई गई मस्जिद किसी भी तरह इस्लाम में जायज नहीं हो सकती। मुस्लिम पक्षकार मेरे इस सवाल का जवाब क्यों नहीं देते हैं? रिजवी ने कहा कि राम जन्मभूमि हिंदुओं की जगह है, उनका हक है। वह उन्हें मिलनी चाहिए और वह उस पर मंदिर का निर्माण करें। वहां मंदिर बनना चाहिए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com