Monday , April 6 2020

कोरोना वायरस के खतरे के कारण स्कूल बंद होने के दौरान सी.एम.एस. में ई-लर्निंग के माध्यम से पढ़ाई शुरू

लखनऊ, 23 मार्च। कोरोना वायरस के खतरे के कारण स्कूलों में बच्चों की शिक्षा ठप्प हो गई है, ऐसे में सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने छात्रों की पढ़ाई के नुकसान को देखते हुए ई-लर्निंग का रास्ता अपनाया है, जिसके माध्यम से छात्र अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। गूगल इन्कार्पोरेशन के सहयोग से सी.एम.एस. ‘गूगल क्लासरूम प्लेटफार्म’ का उपयोग कर रहा है, जहाँ सी.एम.एस. शिक्षक छात्रों के कोर्स से सम्बन्धित शैक्षिक सामग्री एवं असाइनमेन्ट पोस्ट कर रहे हैं। इसके माध्यम से छात्र अपनी शैक्षिक जिज्ञासाओं का समाधान कर सकते हैं और अपनी पढ़ाई को जारी रख सकते हैं। गूगल क्लासरूम, छात्रों व शिक्षकों दोनो के लिए बेहद आसान है। इसके माध्यम से डेस्कटाॅप, लैपटाॅप, टैबलेट और यहाँ तक कि मोबाइल पर भी पढ़ाई की जा सकती है। इसके लिए, प्रत्येक छात्र एवं शिक्षक को ईमेल आईडी प्रदान की गई है, जिसके द्वारा गूगल क्लासरूम पर लाॅगिन किया जा सकता है। उक्त जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी है।

श्री शर्मा ने बताया कि स्कूल बंद होने की आशंकाओं का देखते हुए, होली के तुरन्त बाद, सी.एम.एस. शिक्षकों को गूगल क्लासरूम का प्रशिक्षण प्रदान किया गया था। इसके अलावा, छात्रों व शिक्षकों की सुविधा हेतु गूगल क्लासरूम प्लेटफार्म पर ट्यूटोरियल वीडियो भी उपलब्ध है।

श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. द्वारा ई-लर्निंग के माध्यम से छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के प्रयासों को अभिभावकों द्वारा बहुत ही सराहा जा रहा है। सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस की कक्षा-3 की छात्रा अनन्या  वर्मा के पिताजी श्री हेमन्त कुमार ने कहा कि ई-लर्निंग के माध्यम से अनन्या अपने शिक्षकों से लगातार शिक्षा प्राप्त कर रही है। इसके अलावा, उसने गूगल क्लासरूम का उपयोग करना भी बहुत अच्छी तरह से सीख लिया है। इसी प्रकार, सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस की कक्षा-5 की छात्रा अन्विता अरोड़ा की माताजी श्रीमती शिल्पा अरोड़ा ने कहा कि स्कूल बंद होने के बावजूद उनकी बेटी घर पर पढ़ाई करके अपने समय का सदुपयोग कर पा रही है। शुरूआत में अन्विता को गूगल क्लासरूम का उपयोग करने में थोड़ी कठिनाई हुई थी परन्तु अब वह बड़ी आसानी से पढ़ाई कर रही है, साथ ही साथ, शिक्षकों द्वारा दिये गये असाइनमेन्ट को भी पूरा कर रही है।

सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि कोरोना वायरस के दुष्प्रभावों को रोकने हेतु सामाजिक दूरी बनाये रखना ही सबसे सुरक्षित उपाय है। ऐसे में, छात्रों को आॅनलाइन शिक्षा उपलब्ध कराना सर्वश्रेष्ठ विकल्प है, जिससे स्कूल बंद होने के बावजूद उनका नुकसान नहीं होगा। सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गांधी ने भी छात्रों का आह्वान किया है कि सभी छात्र घर पर रहकर अपनी पढ़ाई को जारी रखें व समय का सदुपयोग करें। डा. गांधी ने अभिभावकों से भी अपील की है कि वे छात्रों का उत्साहवर्धन करते रहें और उन्हें पढ़ाई, खेलकूद व व्यायाम के प्रति जागरूक रखें, साथ ही कोरोना वायरस के खतरों के प्रति भी छात्रों व किशोरों का जागरूक करें।

श्री शर्मा ने बताया कि कोराना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सी.एम.एस. पूरी तरह से शासन-प्रशासन के नियमों का अनुपालन कर रहा हैं। सी.एम.एस. के सभी कैम्पस पूरी तरह से बन्द कर दिये गये हैं परन्तु समय के सदुपयोग के लिहाज से छात्रों को घर पर रहकर पढ़ाई हेतु प्रोत्साहित किया जाना ठीक रहेगा।

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com